जेल में सालों से बंद ये डॉन बनना चाहता था बाप जब नहीं मिली बेल तो फिर…

इतनी बड़ी इस दुनिया में ना जाने रोज कितनी अजीबो-गरीब घटनाएं घटित होती हैं जिनमें कई घटनाएं तो ऐसी होती हैं जो सोचने पर मजबूर कर देती हैं. आपने ऐसी कई घटनाओं के बारे में सुना अथवा देखा भी होगा. लेकिन आज हम जिस घटना के बारे में बात करने जा रहे हैं वो एक ऐसी विचित्र घटना है जिसके बारे में जानकार आपको इतनी हैरानी होगी जिसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते हैं. ये विचित्र घटना किसी दुसरे देश की नहीं बल्कि अपने भारत देश की ही है.

जरा सोचिये की कोई व्यक्ति सालों से जेल की सलाखों के पीछे अपने किए अपराध की सजा काट रहा हो और वो सालों से अपनी पत्नी से एक बार भी नहीं मिला हो और फिर भी उसकी पत्नी एक बच्चे की माँ बन जाए तो? इस बात को जानने के बाद आपका दिमाग जरुर हिल गया होगा. इस वाक्य पर कुछ लोगों का मानना होगा की हो सकता है वो बच्चा किसी और का हो? लेकिन आपको बता दें कि इसके पीछे की जो असली है वो वेहद चौंकाने वाली है.

दरअसल, एक आरोपी जो कि पिछले कई सालों से जेल के पीछे है और उसको कई सालों से परोल या बेल पर नहीं छोड़ा गया है. लेकिन हैरानी की बात ये नहीं है कि वो आरोपी जेल में बंद है, बल्कि हैरानी की बात तो ये है कि ये आरोपी सालों से जेल के बाहर नहीं आया लेकिन फिर भी वो एक बच्चे का पीता बन गया. ये खबर बेशक चौंकाने वाली है लेकिन ये बिल्कुल सच है.

इस पूरी खबर पर एक विश्वस्त सूत्र ने एक मीडिया संस्थान से दावा करते हुए कहा है कि ऐसा एक अंडरवर्ल्ड डॉन के साथ हुआ है. जिस अंडरवर्ल्ड डॉन के बारे में हम बात कर रहे हैं उसके खिलाफ महाराष्ट्र और कई अन्य राज्यों में संगीन अपराधों के मामले में केस चल रहे हैं. इसलिए इस घटना के सामने आने से सबसे बड़ा सवाल उठता है कि जब ये डॉन बाहर आया ही नहीं तो वह किस राज्य की पुलिस या जेल की हिरासत के दौरान बाप बना?

इस घटना पर सूत्र का दावा है कि इस डॉन पर कई अपराधों के मामले में मुकदमें चल रहे हैं और इसीलिए कुछ मुकदमों में वह तारीख के लिए एक राज्य से दुसरे राज्य आता-जाता रहा है. और ऐसी ही एक ट्रेन यात्रा के दौरान एक लड़की उस डॉन के डिब्बे में पहुँच गई थी और उसी के बाद वह लड़की गर्भवती हो गई है.

इस मामले में सूत्र का कहना है कि जिस लड़की की बात की जा रही है वो गर्भवती बनने के बाद ज्यादातर समय गोंडा शहर में रही है और उसने मुंब्रा के एक अस्पताल में अपनी बच्ची को जन्म दिया है. जन्मी बच्ची के मामा ने उसे सवा साल बाद उसके पिता से जेल में मिलवाया था.

आपको बता दें कि इस मामले में सूत्र का कहना है कि मुंबई सीएसएमटी से छुटने वाली ट्रेन मस्जिद बंदर स्टेशन तक बहुत धीमी रफ़्तार से चलती है और उसी दौरान डॉन की प्रेमिका ट्रेन के सामान्य डिब्बे में घुस गई. उस समय आरोपी को अदालत की तारीख पर ले जाने वाले पुलिसकर्मी उसकी सुरक्षा करने के बहाने ट्रेन में टॉयलेट से सटे एक कूपे पर कब्ज़ा कर लेते हैं और उसके बाद उस कूपे को एक चादर से ढंक देते हैं और उसके बाद आरोपी और उसकी प्रेमिका को अकेला छोड़ दिया जाता है.