वीडियो : जब भगवान शिव ने इस संसार को बनाया है तो उनका जन्म कैसे हुआ, जानिये भगवान शिव के माता-पिता कौन हैं?

इस पृथ्वी का निर्माण कब और कैसे हुआ है इसके बारे में आज तक कोई सही नहीं बता पाया है बल्कि इस बारे में वैज्ञानिक और धर्म गुरु सभी अनुमान के आधार पर ही बात करते हैं. हमारी इस दुनिया के कई ऐसे रहस्य हैं जिनके बारे में कोई नहीं जानता. इतना ही नहीं इस पृथ्वी की उत्पत्ति के बारे में सभी धर्मों में अलग-अलग वजह बताई गई हैं. अगर हम सनातन धर्म यानी की हिन्दू धर्म के बारे में बात करें तो माना जाता है कि इस संसार की उत्पत्ति त्री देव यानी की ब्रम्हा, विष्णु और महेश यानी की भगवान शिव ने की है.

लेकिन जरा सोचिये कि जब भगवान शिव ने इस संसार का निर्माण किया है तो उनकी उत्पत्ति कैसे हुई है? कहते हैं कि भगवान शिव ही इस संसार के आदि हैं और अंत भी. अगर ऐसा है तो फिर भगवान शिव के माता-पिता कौन हैं? पुराणों में भी कहा गया है कि भगवान शिव ने इस संसार को बनाया है और उन्ही के हाथों से इस संसार का अंत होगा. सवाल तो ये भी उठता है की भगवान शिव का जन्म कैसे हुआ है और उनके माता-पिता कौन है.

आज हम आपको भगवान शिव से जुड़े इस के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकार आपके होश उड़ जायेंगे. पोराणिक कथाओं के अनुसार भगवान के माता-पिता से जुड़े रहस्य को जानने के लिए एक दिन ऋषियों ने भगवान शिव एक बार सवाल किया और पूंछा की हे! महादेव इस संसार को आपने बनाया है तो फिर आपका जन्म कैसे हुआ है और आपके माता-पिता कौन हैं?

शिव ने ऋषियों द्वारा उनके माता-पिता के बारे में पूंछे जाने पर उनकी जिज्ञासा को दूर करते हुए कहा कि मुझे इस संसार का निर्माण करने वाले भगवान ब्रम्हा जी ने जन्म दिया है. शिव जी के जवाब से ऋषियों की जिज्ञासा शांत नहीं हुई तो उन्होंने भगवान शिव एक बार फिर सवाल किया और उनसे पूंछा कि जब भगवान ब्रम्हा जी अगर आपके पिता हैं तो फिर आपके दादा जी कौन हैं?

इस सवाल के जवाब में भगवान शिव ने कहा की इस संसार का पालन करने वाले भगवान विष्णु ही मेरे दादा जी हैं. भगवान शिव कि महिमा से अनजान ऋषियों ने भगवान शिव से एक और सवाल किया और कहा कि अगर आपके पिता भगवान ब्रम्हा हैं और दादा विष्णु तो फिर आपके परदादा कौन हैं? इस सवाल के जवाब में शिव जी ने मुस्कुराते हुए कहा कि भगवान शिव खुद मेरे परदादा हैं.

श्रीमद्देवीभागवतमहापुराण के मुताबिक़ कहा जाता है कि एक बार नारद जी ने ब्रम्हा जी से सवाल किया था कि इस संसार का निर्माण किसने किया है? उनके सवाल के बाद ब्रम्हा जी ने त्री देवों के जन्म का जिक्र करते हुए कहा कि प्रकृति स्वरूप दुर्गा और काल सदा शिव स्वरूप ब्रम्हा के योग से ब्रम्हा,विष्णु और शिव की उत्पत्ति हुई है.