0 अब बिना प्रेग्नेंट हुए ‘माँ’ बनेंगी महिलाएं, इस तकनीक से मिलेगी मदद

सरोगेसी से हटकर है ये तकनीक।

साइंस भी कमाल की चीज है। ये किसी जादूगर की तरह है, जो सदियों से अपने पिटारे से नई-नई चीजें निकालता रहता है। इसने ऐसी-ऐसी चीजें मुमकिन कर दिखाई है, जिनके बारे में हमने कभी सपने में भी नहीं सोचा था। अब आप ही बताइये कि क्या कभी सोचा था कि एक दिन आर्टिफिशल इंटेलिजेंस जैसी कोई चीज इजाद होगी। या फिर कभी ब्लू व्हेल जैसा कोई गेम आ जाएगा, जिसे खेलने के बाद लोग सुसाइड करने पर मजबूर हो जाएंगे।

जल्द ही साइंस का एक और कमाल देखने को मिलने वाला है। इसके बारे में तो आपने सोचा भी नहीं होगा। इसकी मदद से बिना प्रेग्नेंट हुए बच्चा पैदा किया जा सकेगा। ये तकनीक सरोगेसी नहीं है, जिसकी मदद से शाहरुख़ खान, आमिर खान और करण जौहर जैसे सितारे पिता बने हैं।

ये बात बिल्कुल हटकर है। तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं पूरा मामला।

समिट में दिखाया गया यह कांसेप्ट

हाल ही में न्यूयॉर्क में बायोडिजाइन चैलेंज समिट का आयोजन किया गया था। इसमें 22 यूनिवर्सिटी के 24 स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया। इस समिट में इन स्टूडेंट्स ने अपने अनूठे साइंस प्रोजेक्ट पेश किये। इसके अंतर्गत ArtEZ प्रोडक्ट डिजाइन Arnhem के स्टूडेंट ने अपना एक प्रोजेक्ट पेश किया। इसके मुताबिक बिना प्रेग्नेंट हुए बच्चे को जन्म दिया जा सकेगा।

मशीन का किया जाएगा इस्तेमाल

इस टेक्नोलॉजी के जरिये बच्चा पैदा करने के लिए Parturient का इस्तेमाल किया जाएगा, जो कि एक आर्टिफीशियल Incubator है। Incubator एक ऐसी मशीन होती है, जिसे समय से पहले जन्मे बच्चे को जिन्दा रखने के लिए किया जाता है। Arnhem के स्टूडेंट्स के अनुसार इस मशीन के जरिये महिलाओं के भ्रूण को उनके शरीर के बाहर विकसित किया जा सकता है।

आगे देखिये कैसी है यह मशीन।

प्रक्रिया को देखा जा सकेगा

यह मशीन इंटरनेट से जुड़ी हुई है, जिसमें एक पारदर्शी घुमावदार Lid है। चूँकि इसकी Lid पारदर्शी होगी, इसलिए इसमें भ्रूण के विकसित होने की प्रक्रिया को भी देखा जा सकेगा।

नौ महीने बाद जन्म

जिस तरह डिब्बे के ऊपर से ढक्कन हटा दिया जाता है, उसी तरह 9 महीने पूरे होने के बाद इस मशीन की Lid को हटा कर डिलीवरी की जाएगी।

आगे जानिये मशीन क्यों है गर्भ से बेहतर। 

बच्चे के खाने का खयाल

इस तकनीक की सबसे बड़ी खूबी यह है कि इसके जरिये बच्चे के खाने-पीने और उसके न्यूट्रीशिन का ख्याल रखा जा सकेगा। बच्चे को खिलाने के लिए एक छोटी सी ट्यूब भी इस Product के साथ दी जाएगी।

बच्चा महसूस कर सकेगा

गर्भ के दौरान बच्चे को माँ की कमी महसूस न हो इसके लिए इस मशीन के साथ एक माइक्रोफ़ोन भी मौजूद होगा, जिसके जरिए बच्चा अपने माता-पिता की आवाज को महसूस कर सकेगा।

आगे देखिये किस तरह माता-पिता जुड़े रहेंगे अपने बच्चे से।

माता-पिता महसूस कर सकेंगे मूवमेंट्स

इस मशीन में एक पोर्टेबल डिवाइस भी लगाया गया है, जिसके जरिये माता-पिता अपने बच्चे के मूवमेंट्स को महसूस कर सकेंगे। डिवाइस में मौजूद बटन को दबाने पर बच्चे को अपनी मां की मौजूदगी का एहसास होगा।